News

Coronaviruse updated news 2020

कोरोना वायरस की वजह से हमारे जीवन में व्यापक बदलाव आए हैं ना केवल हमारे निजी जीवन पर बल्कि हमारे रिश्तो पर भी इसका प्रभाव पड़ा है।
लेकिन महामारी के इस दौर में हम खुद और अपनों को कैसे बचाए और कैसे सुरक्षित रखें इसके लिए तमाम तरह की जानकारी सुझाव और सलाह मौजूद है लेकिन क्या हर सलाह आपके लिए फायदे की है यह जरूरी नहीं कुछ ऐसे टिप्स जो आपके लिए फायदे के साबित हो सकते हैं।

 विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोनावायरस से खुद को सुरक्षित रखने का सबसे बेसिक और महत्वपूर्ण उपाय है कि हम सफाई से रहे साफ सफाई का ध्यान रखना सबसे जरूरी है अपने हाथों को समय-समय पर धोते रहें समय-समय पर साबुन और पानी से हाथ धोएं या आप चाहे तो एक अल्कोहल बेस सैनिटाइजर भी इस्तेमाल कर सकते हैं सैनिटाइजर को हाथों पर अच्छी तरह लगाएं इससे अगर आपके हाथ पर वायरस मौजूद होगा तो भी समाप्त हो जाएगा अपनी आंखों को छूने से बचे नाक और मुंह पर भी हाथ लगाने से बचें हम अपने हाथ से तो बहुतो को छूते हैं और इस दौरान संभव है कि हमारे हाथ में वायरस चिपक जाए हम उसी अवस्था में अपने नाकमुं ह आंख को छूते हैं तो वायरस के शरीर में प्रवेश की आशंका बढ़ जाती है।

 अगर आप छिक रहे हैं या फिर खास रहे हैं तो अपने मुंह के सामने टिशु जरूरत है ।

और अगर आपके पास उस वक्त भी टिशू न हो तो अपने हाथ को आगे कर कोहनी की ओट में छींके या खासे अगर आपने कोई टिश्यू इस्तेमाल किया है तो उसे जितनी जल्दी हो सके डिस्पोज करते हैं
 अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो इसमें मौजूद वायरस दूसरों को भी संक्रमित कर सकता है।
 यही है कि लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने को कहा जा रहा है सोशल डिस अलसी के तहत लोगों को एक दूसरे से कम से कम 2 मीटर दूर रहने की सलाह दी गई है लोगों को सलाह दी गई है कि वह अपने घरों में ही रहे और जब तक बहुत जरूरी ना हो घर से बाहर ना निकलें ताकि संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से बचा जा सके साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि यह जरूरी है लोग हैंड सेक का  परहेज करें

Real Life. Real News. Real Voices

Help us tell more of the stories that matter

Become a founding member

और इसके बजाय से ग्रीटिंग जैसे नमस्ते या फिर कोहली के इस्तेमाल के दूसरे तरीके से अभिवादन करें अगर आप किसी ऐसे मांस का इस्तेमाल करते हैं जो एकदम साधारण है ।
और जिसे आपने सुपरमार्केट में खरीदा था तो वह आपके लिए मददगार नहीं होगा ऐसा इसलिए क्योंकि यह मांस बहुत ढीले होते हैं और इससे आंखों को सुरक्षा नहीं मिलती है साथ ही इन्हें बहुत लंबे वक्त से माल नहीं किया जा सकता हालांकि अगर सामने से कोई संक्रमित व्यक्ति ठीक करता है ।
तो उस स्थिति में यह जरूर मददगार साबित होता है यह याद रखने की जरूरत है कि कोरोनावायरस के जितने मामले सामने आए हैं उनमें से बहुत से मामले ऐसे हैं जिसमें संक्रमित लोगों में कोई लक्षण नजर नहीं आया लेकिन जब उन्हें टेस्ट किया गया तो वह पॉजिटिव पाए गए ऐसे में अगर आप मस्क का इस्तेमाल करते हैं तो कोई बुराई नहीं है

https://www.helpajtak.in/2020/05/coronaviruse-updated-news-2020.html?m=1

अगर हम गल्पश की बात करे तो विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अगर आप ग्लपस इस्तेमाल करते हैं तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आप कोरोनावायरस से बच जाए ।
लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी है कि नंगे हाथ से चेहरा छूना खतरनाक साबित हो सकता है विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि रोजाना साबुन से हाथ धोते रहना गुलाब की तुलना में कहीं अधिक सुरक्षित और कारगर है कोरोना वायरस संक्रमण का प्रमुख लक्षण बुखार और सूखी खांसी आना है ।
आपको यह दोनों लछड़ अगर आ रहे हैं तो बेशक आपको सावधान होने की जरूरत है इसके अलावा गले में खराश सिर दर्द डायरिया जैसे लक्षण भी कुछ मामलों में पाए गए हैं कुछ मामलों में लोगों ने शिकायत की है कि उनके मुंह का स्वाद भी चला गया कुछ नहीं गंध ना महसूस होने की भी शिकायत की है विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अगर आपको खुद में ऐसे लक्षण नजर आ रहे हैं ।

तो घर में रहे अगर लाछड़ बेहद कम है तो भी पूरी तरह ठीक होने तक घर पर ही बने रहे याद रखें कोविड-19 के 80 फ़ीसदी मामलों में संक्रमण के लक्ष्य बेहद का नहीं थे ऐसे में यह ध्यान रखना सबसे जरूरी है कि आप दूसरों के संपर्क में आने से बचें अगर बुखार और खांसी लगातार बढ़ रही है और सांस लेने में दिक्कत हो रही है ।
तब आपको मेडिकल सलाह लेने की जरूरत है हो सकता है इसकी वजह को रोना संक्रमण हो भी और नहीं भी पहले से ही अपने स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने वाले शख्स से संपर्क में रहें ताकि आपको सही समय पर सही इलाज और सलाह मिल सके मेडिकल जर्नल द लांसेट इनफेक्शियस डिजीज में छपी एक नई रिसर्च के मुताबिक कोविड-19 के मरीजों में 0.66% लोगों के ही मरने की आशंका होती है।
 यह सामान्य फ्लू से होने वाली मौतों से सिर्फ 0.1 फिर भी  अधिक है लेकिन इस बात का जिक्र करना जरूरी हो जाता है कि अभी तक हमें मौत के सिर्फ वही मामले पता चले हैं जो अस्पताल में हुई है इस बात की पूरी आशंका है कि मौत का आंकड़ा इससे अधिक हो ऐसे में पुख्ता तौर पर कहना थोड़ा मुश्किल है किसी महामारी के दौरान डेटशीट का आकलन कर पाना थोड़ा मुश्किल होता है क्योंकि संक्रमण होने और मौत होने के बीच समय का काफी फर्क होता है इंपिरियार कॉलेज लंदन के मुताबिक जिन लोगों की उम्र 80 साल से अधिक है उनके लिए खतरा औसत से 10 गुना अधिक है और वही जिनकी उम्र 40 से कम है उनके लिए खतरा कुछ कम है इसके साथ ही चीन में करीब 44000 लोगों पर एक विश्लेषण किया गया जिसमें पाया गया कि मधुमेह से पीड़ित लोगों हाई ब्लड प्रेशर और दिल से जुड़ी बीमारियों वालों के मरने की आशंका 5 गुना अधिक होती है ।
इसका कोई इलाज संभव होगा फिलहाल कोरोनावायरस के लिए ना तो कोई खास दवा तैयार की जा सकी है और ना ही वैक्सीन है एडमिन के विकल्प है लेकिन ज्यादातर लोग खुद ही ठीक हो जाते हैं पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इस वायरस के लिए बेक्सीन निजात करने की कोशिश कर रहे हैं

https://www.helpajtak.in/2020/05/coronaviruse-updated-news-2020.html?m=1

लेकिन अभी इनके ट्रायल किए जा रहे है और उसके बाद ही कहीं जाकर कुछ स्पष्ट हो सकेगा लेकिन अभी इसमें वक्त लगेगा इस महामारी के दौरान अपने मानसिक स्वास्थ्य को कैसे बनाएं यह याद रखें फिर बाद में रत्ती भर भी शक नहीं है कि महामारी के दौर में मानसिक तनाव हो सकता है हो सकता है।
 कि आपको बेचैनी महसूस हो रही हो आप तनाव महसूस कर रहे हो परेशान हो रहे हो दुखी हूं और अकेला महसूस कर रहे हो इसके लिए ब्रिटिश नेशनल हेल्थ सर्विस ने 10 टिप्स दिए हैं जिससे आप अपने मानसिक स्थिति को बेहतर बनाए रख सकते हैं यह टिप्स कुछ इस तरह अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ फोन वीडियो कॉल या फिर सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क में बने रहे उन चीजों के बारे में बात करते रहें जिससे आपको परेशानी हो रही हो दूसरे लोगों को भी समझने की कोशिश करें अपनी नई दिनचर्या को अपनी दिनचर्या का व्यावहारिक तरीके से पालन करें अपने शरीर पर ध्यान रखिए अमित व्यायाम और खान-पान का ध्यान रखें आप जहां से भी जानकारियां ले रहे हो और इस महामारी के बारे में बहुत अधिक न पड़े 

व्यवहार को अपने नियंत्रण में रखें अपने मनोरंजन का भी पूरा ध्यान रखें वर्तमान पर फोकस करें और यह याद रखें कि यह समय चिरस्थाई नहीं है अपनी नींद को किसी भी तरह से बाधित ना होने दें

Thank you

यदि आप सब को मेरी यह पोस्ट पसन्द आयी हो तो दूसरों के साथ भी इसे शेयर करना न भूले ।


Subscribe to the newsletter news

We hate SPAM and promise to keep your email address safe

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
EnglishHindi