News

What is coronavirus 2020

https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html

Real Life. Real News. Real Voices

Help us tell more of the stories that matter

Become a founding member
चीन में कोरोना_वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 170 हुए 1700 नए मामले आये सामने चीन में करोना virus के कारण 38 लोगों की मौत हो जाने के साथ विषाणु की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 170 हो गई है !
इस संक्रमण से सर्वाधिक लोगों की मौत हो हुबई प्रान्त में हुई है हुबई की राजधानी बुहान में दिसंबर में करोना virus का संक्रमण फैलना आरंभ हुआ था और अब यह संक्रमण दुनिया भर में फैल गया है !
नए साल में चीन एक और नई बड़ीचुनौती के सामने सामने सामना करना पड रहा है !
जिसका नाम है कोरोनावायरस , कोरोनावायरस चीन की सीमाओं से निकल कर दुनिया के अन्य शहरों फ़ैल चूका है चीन के गुहान शहर में पैदा हुए कोरोनावायरस थाईलैंड दक्षिण कोरिया जापानअमेरिका ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस की मौजूदगी का पता चला है ब्रिटिश कैनेडा समेत कई देशों में संदिग्ध मामले सामने आए हैं
https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html
 इन मामलों की जांच कर पता किया जा रहा है कि कहीं इनके पीछे कोरोनावायरस तो नहीं है चीन के आसमान से उड़कर दुनिया के बाकी देशों में जाने वाले हवाई जहाजों से उतरने वाले यात्रियों वैज्ञानिक तरीकों से जांच की जा रही है कोरोनावायरस की वजह से दुनिया के बाकी देशों से हवाई यात्री इन दिनों चीन जाने से परहेज कर रहे हैं कोरोना का कहर यह बहुत तेजी से अपने पैर पसारता है इसके संक्रमण की वजह से निमोनिया होने का भ्रम होता है यही वजह है कि शुरुआत में चीन के स्वास्थ्य कर्मी कोरोनावायरस के संक्रमण को मामूली निमोनिया समझते रहे लेकिन जल्द ही उन्हें समझ गया कि यह कोई मामूली संक्रमण नहीं है और इससे निपटने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाना होगा कोरोना वायरस का विकराल रूप सामने आने से पहले ही संकट के संकेत मिलने लगे थे नॉटिंघम यूनिवर्सिटी के सॉफीहान और जेसंनिल साल 2019 के आखिरी महीने में गुहान में थे सूफ़ी ने बताया वहां क्या क्या देखा था हम खरीदारी करने के लिए ऑल मार्ट गए थे वहां अफरा-तफरी मची थी जिसे देखती थी वही पीने की चीज खरीद कर जमा कर लेना
फिर हम मास्क खरीदने के लिए मेडिकल स्टोर पर भी गए लेकिन लोग पहले से ही कितने मास्क खरीद चुके थे कोरोनावायरस से बुरी तरह प्रभावित हुआ है पूरे देश में संक्रमण के 1000 से अधिक मामले सामने आए हैं इनमें से अधिकतर संक्रमण हुबई प्रांत में हुए हैं एक ही जगह संक्रमण के इतने अधिक मामले ने चीन में प्रशासन की नींद उड़ा दी है वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए चीन अधिकारियों ने कई कदम उठाये है एक जगह से दूसरी जगह जाने से रोका जा रहा है यह दिक्कत हो रही है तो आप को फौरन डॉक्टर को दिखाना चाहिए लेकिन आपको सिर्फ इस वजह से परेशान होने की जरूरत नहीं है कि आपने C food खाया है यह वायरस सांस की तरह खतरनाक तो नहीं है लेकिन यदि
https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html

कि मेडिकल स्टोर पर मास्क बचे ही नहीं थे गुहान की यह हालत देख कर बहुत दुख हुआ लेकिन तब पता नहीं था कि आने वाले दिनों में हालत इतनी खराब हो जाएगी घरों में दुबके लोग चीन का दुबई प्रान्त

लक्ष्मण पकड़ में ना आए तो एक काबू में करना मुश्किल होगा फिर उनका संक्रमण किसे है किसे नहीं यह जानना इतना भी आसान नहीं है पता तभी चलता है जो लक्ष्ण उभरते हैं यह मरीज की हालत बहुत खराब हो जाती है विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को चीन के लिए इमरजेंसी बताते हुए कहा है कि अभी इसे ग्लोबल हेल्थ एमर्जेन्सी नहीं कहा जा सकता लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह भी कहा है कि कोरोना वायरस चीन के साथ बाकी दुनिया के लिए भी बहुत गंभीर खतरा बन सकता है कोरोनावायरस बढ़ते प्रकोप में यह सवाल खड़ा कर दिया है कि अत्याधुनिक होती जा रही दुनिया में चीन जैसी उभरती अर्थव्यवस्था वाले देश की किसी viruse से बचने के लिए कितने तैयार है पहले दावा किया गया था कि कोरोना वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में नहीं फैलता लेकिन जल्द ही यह दावा गलत साबित हुआ और इस गलती ने यह साबित कर दिया कि अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं के बावजूद किसी नए viruse की पहचान और उसकी ताकत को समझना बहुत मुश्किल है कभी चमगादड़ तो कभी सांप को और कभी भोजन की थाली में परोसे गए समुद्री जीव या C फूट को कोरोनावायरस कि वजह बताया गया
https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html


लेकिन पक्के तौर पर यह नहीं पता चल पाया है कि कोरोनावायरस इनमें से किस की वजह से पैदा हुआ अलग-अलग पॉलिसी का की वजह से मानव जाति को बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा वैज्ञानिकों ने टीके व्यक्त करके इनका खतरा तो कम कर दिया लेकिन कोरोनावायरस कि अभी तक कोई जवाब नहीं है कोरोनावायरस को लेकर दुनियाभर में चिंता की असल वजह यही है और उम्मीद की जा रही है कि शोधकर्ता जल्द ही इसका समाधान खोज लेंगे तब तक भारत जैसे देशों के बाद एहतियात के सिवा दूसरा कोई विकल्प नहीं है 
https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html
 ( 1 ) कहां से पहले शुरू हुआ करो ना वायरस!
 जैसे कि हमने ऊपर बताया है कि करुणा वायरस के मामले सबसे पहले चीन में देखने को मिली दरअसल चीन के हुनान प्रांत के फॉर्म शहर में इसका असर सबसे पहले और सबसे घातक रूप में देखने को मिला चाइना के अलावा थाईलैंड सिंगापुर जापान में भी करो ना वायरस के मरीज मिल रहे हैं हाल ही में इंग्लैंड में भी एक फैमिली के वायरस की चपेट में आने की जानकारी सामने आई है तथा भारत में भी तकरीबन 2 लोगों को पॉजिटिव पाया गया है !
(2) करोना वायरस क्या है !
 वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार यह वायरस सीफूड से जुड़ा है और इसकी शुरुआत चीन के हुबेई प्रांत के बुहान शहर के एक सीफूड से हुई है खास बात यह है कि यह वायरस ना केवल इंसानों बल्कि पशुओं को भी अपना शिकार बना रहा है।
( 3 ) क्या करो ना वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है !
करो ना वायरस को लेकर के रोज-रोज नई-नई अपडेट्स आती रहती हैं पहले इस वायरस के बारे में कहा गया था कि यह एक इनफेक्ट सी फूड खाने से ही फैलता है जबकि हाल ही डब्ल्यूएचओ ने इस बात की पूरी संभावना जताई है कि यह वायरस बेहद परिवार के लोगों में एक दूसरे से फैल सकता है। 
(4) करोना वायरस के क्या क्या लक्षण है। 
 करोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को सबसे पहले सांस लेने में दिक्कत गले में दर्द जुकाम खांसी और बुखार होता है फिर वह बुखार निमोनिया का रूप ले लेता और निमोनिया किडनी से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों को बढ़ा सकता है।
https://www.helpajtak.in/2020/02/what-is-coronavirus-symptom-china-2020.html
( 5 ) करो ना वायरस का इलाज क्या है। 
 सीधे  सीधे बताएं तो अभी तक करोना वायरस पर अटैक करने वाली कोई भी वैक्सीन मार्केट में नहीं आई है लेकिन इसके लक्षण के आधार पर डॉक्टर इसके इलाज में दूसरी जरूरी मेडिसिंस का उपयोग कर रहे है साथ ही इसकी वैक्सीन तैयार करने पर भी काम बहुत तेजी से चल रहा है जिससे इस घातक वायरस का इलाज किया जा सके। 
( 6 ) वायरस से बचने के तरीके।
 ( I ) पहली और अन्तिम  है कि जब तक करो ना वायरस का प्रकोप शांत नहीं हो जाता जितना हो सके आप सी फूट से दूर है। 
( II ) करो ना वायरस से बचने के लिए साफ-सफाई बेहद जरूरी है कभी भी बाहर से आने या कुछ भी खाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह साफ करें सिर्फ पानी से नहीं बल्कि साबुन या अन्य जरूरी चीज का इस्तेमाल करके आप अपने हाथ को साफ कर सकते हैं।
( III ) प्लास्टिक ट्रांसपोर्ट का यूज करने के बाद हाथ साफ किए बिना उन्हें अपने चेहरे और मुंह पर ना लगाएं। 
( IV ) बीमार लोगों की देखभाल के दौरान अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें अपनी नाक और मुंह को कवर करके रखें ऑन इस्तेमाल किए हुए बर्तन और कपड़ों का उपयोग करने से बचें। 
(7) क्या करो ना वायरस से मृत्यु हो सकती है।
 करुणा वायरस काफी समय तक अपना प्रभाव बनाए रखने में सफल हो जाता है तो घातक स्तर पर पहुंच जाए तो जान के लिए खतरा पैदा कर सकता है या इस वायरस की दूसरी बार प्रकोप है और इस दौरान दुनिया भर में 170 से अधिक मौत हो चुकी है
दोस्तों वैसे ही कोरोनावायरस पर अपडेट  लेते रहने के लिए हमारे POST को LIKE  AND ShARE करना बिल्कुल ना भूलें का धन्यवाद


Subscribe to the newsletter news

We hate SPAM and promise to keep your email address safe

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
EnglishHindi